|

Rifaximin 400 mg uses in Hindi. 100% Proven Antibiotic.

Rifaximin 400 mg uses in Hindi

हैलो दोस्तों स्वागत है आपका solution daddy प्लेटफ़ॉर्म पर और आज हम बात करेंगे रिफैक्सीमिन (Rifaximin) ड्रग या दवाई के बारे में दोस्तों रिफैक्सिमिन रिफ़ामाईसिन बेस्ड नॉन सिंथेटिक प्रतिजैविक (Antibiotic) है जो पेट की आँतों में बैक्टीरिया के द्वारा हुए इन्फेक्शन को ख़त्म करने और लूज़ मोशन में इसका इस्तेमाल किया जाता है और जानेंगे इस लेख में Rifaximin 400 mg uses in Hindi. Rifaximin 400 कैसे काम करती है यह दवा किस किस ब्रांड नाम से बाज़ार में मिलती है

Rifaximin क्या है? (What is Rifaximin)

रिफैक्सिमिन रिफ़ामाईसिन बेस्ड नॉन सिंथेटिक प्रतिजैविक (Antibiotic) है। Rifaximin का केमिकल फार्मूला C43H51N3O11 होता है इसका मॉलिक्यूलर बजन 785.87 होता है।रिफैक्सीमिन रचनात्मक रूप से रिफ़ामाईसिन (Rifamycin) की तरह होता है। यह एक सेमी सिंथेटिक ड्रग है जिस कारण यह और अलग गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल वाल से पास नहीं कर पाती है और सीधे ब्लड सर्कुलेशन में नहीं जाती है जबकि और अलग एंटीबायोटिक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल दीवार को भेद कर ब्लड सर्कुलेशन में मिल जाती हैं यह दवा कई सारे बैक्टीरियल संक्रमण ख़त्म करती है जिसमे इ कोलाई बैक्टीरिया भी शामिल है Rifaximin 400 mg uses in Hindi में इसके इस्तेमाल के बारे में जानेंगे 

Rifaximin किस श्रेणी में आती है? (Category Of Rifaximin)

रिफैक्सिमिन को DRUGS FOR CONSTIPATION AND DIARRHOEA ( कब्ज और दस्त के लिए दवाएं ) की श्रेणी में रखा गया है जैसा की इसकी श्रेणी से ही पता चलता है कि इसका इस्तेमाल पेट की बिमारियों या संक्रमण (Infection) को दूर करने के लिए किया जाता है जिसमे कब्ज, गैस, एसिडिटी, दस्त या लूज मोशन और आंतों की सूजन जैसी बीमारियाँ शामिल हैं Rifaximin 400 mg uses in Hindi की बात की जाए तो यह 400 मिलीग्राम की डोज के साथ आती है जो पेट में संक्रमण फ़ैलाने बाले बैक्टीरिया पर अपना अच्छा असर छोड़ती है और उक्त बैक्टीरिया को किल करती है जिससे हमें पट की बिमारियों और संक्रमण से निजात मिलती है 

Rifaximin 400 mg uses in Hindi adme

Rifaximin कैसे काम करती है। (ADME of Rifaximin)

जैसा की आपने ऊपर जाना कि रिफैक्सीमिन रिफ़ामाईसिन बेस्ड नॉन सिंथेटिक प्रतिजैविक (Antibiotic) है जो पेट की आँतों में बैक्टीरिया के द्वारा हुए इन्फेक्शन को ख़त्म करने और लूज़ मोशन में इसका इस्तेमाल किया जाता हैRifaximin दवा टार्गेटेड बैक्टीरिया की आर एन ए (RNA-Ribonucleic Acid) सिंथेसिस को रोकती है। जिस कारण इसका transcription रुक जाता है। और संक्रमण ख़त्म होना शुरू हो जाता है Rifaximin 400 mg uses in Hindi में इसके उपयोग पेट की समस्याओं में किये जाते हैं।

  • अवशोषण (Absorption)- रिफैक्सिमिन ड्रग को ओरल रूट  के माध्यम से दिया जाता है। इसका बॉडी में अवशोषण बहुत कम होता है। फिर चाहे आपने इस दवा को निहार मुह बिना भोजन किये लिया हो या फिर भोजन करने के आधे घंटे के बाद लिया हो।
  • वितरण (Distribution)- रिफैक्सिमिन ड्रग एक बार ओरल रूट के माध्यम से लेने के बाद इसका अवशोषण होने लगता है और यह दवा हमारे रुधिर के माध्यम से पूरे शरीर में वितरण हो जाता है और फिर रिफैक्सिमिन का एक्शन शुरू हो जाता है इसकी की हाफ लाइफ लगभग 6 घंटा होती है
  • Mechanism of Action- रिफैक्सिमिन एंटीबायोटिक या Rifaximin दवा टार्गेटेड बैक्टीरिया की आर एन ए (RNA-Ribonucleic Acid) सिंथेसिस को रोकती है। जिस कारण इसका transcription रुक जाता है और संक्रमण ख़त्म होना शुरू हो जाता है।
  • निष्कासन (Route of Execration)- रिफैक्सिमिन को ओरल रूट के द्वारा लिया जाता है एक बार इसका मेटाबोलिज्म लीवर में होने के बाद इसका निष्काशन मूत्र के माध्यम से हो जाता है जिसमे Rifaximin का प्रकार न के बराबर बदलता है इसकी कुछ प्रतिशत या बची हुई ड्रग हमारे पसीने से बहार आती है।

Rifaximin के इस्तेमाल। (Rifaximin 400 mg uses in Hindi)

Rifaximin का इस्तेमाल पेट की बीमारयों के लिए किया जाता है जिसमे ज्यादातर पेट में बैक्टीरिया के कारण हुए संक्रमण शामिल हैं और अन्य लक्षण जैसे पेट का दर्द लूज मोशन इत्यादि में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है एक रजिस्टर्ड चिकित्सक ही इस दवा को prescribe कर सकता है और मेरी भी यही सलाह है कि इस दवा को चिकित्सक के परामर्श के बिना न लें

  1. Irritable Bowel Syndrome- Irritable bowel syndrome बहुत कॉमन बीमारी है। इसको संवेदनशील आंत की बीमारी भी कहते हैं इस बीमारी बड़ी आंत (Large Intestine) एफेक्ट करती है। जिस कारण पेट दर्द और दस्त जैसी समस्याएँ हो जाती हैं। इन बिमारियों में हम Rifaximin का इस्तेमाल करते हैं। 
  2. Traveler’s Diarrhea (ट्रैवेलर्स डायरिया)- इस बीमारी में पेट में अपच हो जाती है जिस कारण मल फ्लूइड के रूप में निकलता है जिससे बॉडी में डिहाइड्रेशन हो जाता है और शरीर के एसेंशियल एलिमेंट कम हो जाते हैं यह बीमारी E-COLI बैक्टीरिया के कारण होती है जिसके ट्रीटमेंट के लिए Rifaximin का इस्तेमाल करते हैं। 
  3. Stomach Pain (पेट दर्द)Rifaximin का इस्तेमाल पेट के संक्रमण को खत्म करने के लिए भी करते हैं। पेट के संक्रमण के कारण हमारे पेट में दर्द होने लगता है। जिसको रोकने के लिए भी हम Rifaximin का इस्तेमाल करते हैं। 
  4. Vomiting (उलटी होना)- जब भी हमारे पेट में इन्फेक्शन होता है तो यह उलटी वोमीटिंग का कारण भी बनता है पेट में हुए संक्रमण में यह लक्षण भी शामिल है जिसको कम करने के लिए भी हम Rifaximin का उपयोग करते हैं। 

Rifaximin 400 mg uses in Hindi adverse effect

दुष्प्रभाव। (Adverse Effects)

Rifaximin 400 mg uses in Hindi में हम लोगों ने इसके उपयोग जाने जो काफी लाभदायक हैं और Rifaximin के दुष्प्रभाव के रूप में हमको बहुत सारे लक्षण देखने को मिलते हैं जिसमे चक्कर आना (dizziness) और अत्यधिक थकान हो जाती है इसके अलावा Rifaximin का ज्यादा दिनों तक इस्तेमाल सर दर्द और जोड़ों के दर्द का भी कारण बनता है

खुराक। (Dose)

चिकित्सक (Doctor) की सलाह के बिना इस दवा को कभी न लें वयस्कों में इसकी खुराक 400 मिलीग्राम एक दिन में तीन बार के हिसाब से ली जाती है बच्चो में इसकी खुराक 12 साल से ऊपर को  200 मिलीग्राम दिन में तीन बार है जो अलग बीमारी के हिसाब से अलग अलग होती है

Rifaximin के ब्रांड के नाम। (Brands name of Rifaximin)

  • CIBOZ 400
  • RAFLE 400
  • RIFNIM 400
  • RCIFAX 400 (Rcifax 400 Tablet Uses In Hindi)
  • RIXMIN 400
  • RIFASTOP 200
  • RIFASTOP 400

निष्कर्ष। (Conclusion)

रिफैक्सिमिन रिफ़ामाईसिन बेस्ड नॉन सिंथेटिक प्रतिजैविक (Antibiotic) है। जिसका इस्तेमाल ट्रैवलर डायरिया में किया जाता है। दोस्तों कैसा लगा यह Rifaximin 400 mg uses in Hindi लेख हमें कमेंट करके बताएं। इस लेख से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न या सुझाव हो तो हमसे संपर्क करें। धन्यबाद।

यह भी पढ़ें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.