प्रिंटर क्या है? Up to 80% Discount on All printers.

printer kya hai

प्रिंटर क्या है? अक्सर लोग यह सवाल पूछते हैं। नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका हमारे इस ब्लॉग Solution Daddy में। आज हम इस लेख में जानेंगे प्रिंटर क्या है और RPINTER कितने प्रकार के होते हैं? PRINTER काम कैसे करते हैं। LASER PRINTER क्या है। INKJET PRINTER क्या है। IMPACT प्रिंटर क्या है। और इसके अलावा 3D PRINTER क्या होते हैं।

और कैसे काम करते हैं। दोस्तों आप सब लोगों ने कहीं न कहीं ऑफिस में या फोटोकॉपी की दुकान पर प्रिंटर जरुर देखा होगा। और अपने कभी न कभी अपने आधार और बहुत सारे मूल दस्तावेजों की प्रति (PHOTOCOPY, XEROX) करायी होगी। तो आपके भी मन में निम्नलिखित सवाल जरुर आये होंगे।

  • PRINTER क्या है और कैसे काम करता है?
  • PRINTER कितने प्रकार के होते हैं?
  • LASER PRINTER क्या है और कैसे काम करता है?
  • INKJET PRINTER क्या है और कैसे काम करता है?
  • 3D PRINTER क्या है?

Printer Kya Hai? (WHAT IS PRINTER IN HINDI LANGUAGE)

प्रिंटर क्या है प्रिंटर एक कंप्यूटर आउटपुट यन्त्र (DEVICE) है। जिसका उपयोग हम कंप्यूटर द्वारा बनाई गई तस्वीरों और लेख(SOFT MEDIA, SOFT COPY) को प्रिंटर द्वारा पेपर पर (HARD COPY) प्रिंट किया जाता है। इसलिए इसको Printer हार्डवेयर यन्त्र भी कहा जाता है। प्रिंटर कई प्रकार के होते हैं। इनमे लेज़र प्रिंटर, इंकजेट प्रिंटर और थ्री डी प्रिंटर शामिल हैं। कलर प्रति निकलने के लिए हम इंकजेट प्रिंटर का इस्तेमाल करते हैं। और ब्लैक एंड वाइट प्रिंट हम दोनों प्रिंटर से निकल सकते हैं। लेकिन ब्लैक एंड वाइट प्रति ज्यादा मात्रा में निकलने के लिए हम लेज़र प्रिंटर का इस्तेमाल करते हैं। लेज़र प्रिंटर का ज्यादातर इस्तेमाल कमर्शियल या ऑफिस में किया जाता है। 

inkjet प्रिंटर क्या है

वह इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर आउटपुट यन्त्र जिसके द्वारा सॉफ्ट मीडिया को हार्ड कॉपी में बदला जाता है। उसको हम प्रिंटर के नाम से परिभाषित करते हैं। प्रिंटर , कंप्यूटर से USB केबल ,वाई फाई और ब्लूटूथ के माध्यम से जुड़ता है। और कंप्यूटर द्वारा दिए गए कमांड को फॉलो करता है। 

प्रिंटर के प्रकार (TYPES OF PRINTER IN HINDI)

अब आप जान चुके हैं। प्रिंटर क्या है और PRINTER की परिभाषा क्या है।आइये अब जानते हैं। PRINTER कितने प्रकार के होते हैं।  प्रिंटरों को उनके काम करने के तरीके के आधार पर बांटा गया है। इनमे इम्पैक्ट प्रिंटर और नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर आते हैं। इम्पैक्ट प्रिंटर बहुत पुराने मेकनिस्म पर कम करते हैं। इनमे कुछ प्रिंटर आज भी हमे बैंक और डाकखाने में देखने को मिल जाते हैं। इनमे एक रोलिंग टेप इंक होती है। जो ज्यादातर काली होती है इंक टेप के उपर हेड चलता है। जो मोटर और बेल्ट के द्वारा चलता है। इनको सधारण भाषा में लिपि प्रिंटर कहा जाता है। अब आता है नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर निम्न लिखित हैं।

  • इंकजेट प्रिंटर
  • लेज़र प्रिंटर
  • थ्री डी प्रिंटर
  • फोटो और मल्टी फंक्शन प्रिंटर
  • पॉकेट प्रिंटर

इंकजेट प्रिंटर क्या है (WHAT IS INJET PRINTER)

अभी हमने जाना Printer कितने प्रकार के होते हैं। और मैं समझता हूं आप अच्छे से समझ रहे हैं।अब आते हैं हम inkjet printer पर और सीखते हैं। आखिर inkjet printer आखिर है क्या? Inkjet printer सीधे मोबाइल या कंप्यूटर से USB, WI FI, या Bluetooth के माध्यम से कनेक्ट होते हैं। इन प्रिंटर्स में चार कलर डले होते हैं। आप प्रिंटर क्या है लेख पढ़ रहे हैं।

जिनमे नीला, पीला, लाल, और काला रंग होता है। इन्हीं कलर्स कॉबिनेशन के बेस पर सारे रंग तैयार होते हैं। ।inkjet printer की खास बात यह है हैं इनसे रंगीन और ब्लैक एंड व्हाइट दोनो प्रकार के आउटपुट ले सकते हैं। ज्यादातर प्रिंटर में स्कैनिंग का भी ऑप्शन मिलता है। जिससे हम फोटोकॉपी या जेरॉक्स भी कर सकते हैं। Inkjet Printer भी दो प्रकार के होते हैं। जो निम्लिखित है।

• इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर (Inktank Inkjet Printer Hindi me)
• सील्ड पैक कार्टिज Printer

इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर (What is Inktank Inkjet Printer)

इंकटैंक inkjet printers में इसके नाम के स्वरूप एक इंकटैंक होता है। जिसमें काफी सारे पेजेस को प्रिंट करने की क्षमता होती है। इसका इस्तेमाल व्यवसायिक रूप से भी होता है। यह प्रिंटर ज्यादातर घरों और ऑफिसेज में देखने को मिल जायेगा। इसके द्वारा प्रिंट की गई प्रतियों की कीमत काफी हद तक कम आती है। और यह प्रिंटर एक बार में 1500 से ज्यादा प्रिंट कर सकता है।

इंकटैंक प्रिंटर ज्यादातर मल्टीपरपज काम में लिए जाते हैं। जिनमे स्कैनिंग और फोटो प्रिंटिंग भी शामिल है। चूंकि यह एक रिफिलेबल प्रिंटर है इस वजह से यह प्रिंटर आसानी से रिफिल हो जाता है। इसको रिफिल करने के लिए किसी तकनीकी व्यक्ति की भी जरूरत नहीं पड़ती। इस वजह से इस प्रिंटर की मार्केट वैल्यू बहुत अधिक है।

इस प्रिंटर को रिफिल करने के लिए चार रंगों(काला, नीला, लाल, और पीला) की जरूरत होती है। जो की मार्केट में आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। आजकल यह प्रिंटर्स बहुत आम हैं। तो शहर लेबल पर इसकी सर्विस बहुत आसानी से हो जाती है। और सारे पार्ट्स भी मिल जाते हैं।

3d प्रिंटर क्या है

इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर काम कैसे करता है (Mechanism of ink tank inkjet Printer)

ऊपर लिखे लेख में हम सीखा। इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर कैसा होता है। और इसकी उपलब्धता और रूपरेखा कैसी है।अब हम सीखेंगे आखिर Inktank Inkjet Printer काम कैसे करता है? इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर में एक खास किस्म की मैकेनिज्म काम करती है। इस प्रिंटर में सबसे खास चीज होती है इसका हेड जो किसी भी पेपर पर स्प्रे करके प्रिंट करता है। जब भी हम कम्प्यूटर या अन्य किसी यंत्र द्वारा प्रिंटर को कमांड देते हैं।

तो यह प्रिंटर उस कमांड को अपनी स्वयं की मेमोरी में सेव कर लेता है और  विश्लेषण करके कमांड को हेड तक पहुंचाता है। सबसे मेन काम हेड का ही होता है। हेड में बहुत छोटी छोटी नोजेल्स होती हैं। जिनसे रंग स्प्रे होता है। प्रिंटर में एक मोटर होती है। जो प्रिंटर के हेड को दाएं बाएं हिलाती रहती है और स्प्रे करती रहती है। जिससे कोई भी दस्तावेज बड़ी आसानी से प्रिंट हो जाता है।

सील्ड कार्टिज इंकजेट प्रिंटर (Sealed Cartridge Inkjet Printer)

सील्ड कार्टिज इंकजेट प्रिंटर बहुत ही कॉम्पैक्ट होते हैं इन प्रिंटर्स दो छोटी छोटी कार्टिज पड़ती हैं। जिसमे से एक कार्टिज में तीन कलर(लाल नीला पिला) होते हैं। और वहीं दूसरी कार्टिज में सिर्फ और सिर्फ कला रंग ही होता है। चुकी यह बहुत छोटी होती हैं इस वजह से इनसे बहुत ही कम पेपर्स प्रिंट होते हैं। आप इस प्रिंटर से ज्यादा से 100 ब्लैक एंड वाइट और 40 रंगीन पेज ही प्रिंट कर सकते हैं।

इस वजह से इन प्रिंटर्स के द्वारा किये गए प्रिंट्स की कीमत बहुत पड़ती है। लेकिन यह प्रिंटर्स बहुत सस्ते आते हैं यह प्रिंटर्स मार्किट में 2000 से लेकर 3000 रुपये में आते हैं। लेकिन एक बार इनकी कार्टिज ख़त्म होने के बाद रिफिल नही होती है। और इन दोनों कार्टिज की कीमत लगभग 1500 रुपये है। बड़े शहरों में कुछ एक्सपर्ट्स इनको रिफिल करते हैं।

लेकिन रिफिल करने में कार्टिज डैमेज होने का रिस्क रहता है। और अगर कार्टिज ठीक ठाक रिफिल हो भी जाती है तो भी वह दो या तीन बार से ज्यादा रिफिल नहीं होती। और नयी कार्टिज काफी महंगी पड़ती है। इस प्रिंटर का उपयोग ज्यादतर लोग सिर्फ पर्सनल यूज़ के लिए करते हैं।

प्रिंटर क्या है 2

सील्ड कार्टिज इंकजेट प्रिंटर काम कैसे करता है 

यह प्रिंटर विल्कुल इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर की तरह काम करता है। चूँकि इंकटैंक इंकजेट प्रिंटर में हेड होता है। जिसमे चार पाइप लगे होते हैं। और सील्ड पैक कार्टिज में इसके नाम के स्वरुप कार्टिज होती हैं। जो की एक बेल्ट द्वारा मोटर से जुडी रहती हैं। बेल्ट कार्टिज को दाएँ वाएं धकेलती है। जिससे कार्टिज में मोजूद छोटे छोटे छेदों से रंग निकलता है और दी कमांड के स्वरुप उसको प्रिंट करता है। मैं समझता हूँ अब आप भलीभांति जन गए होंगे printer क्या है। और inkjet printer क्या है।

लेज़र प्रिंटर क्या है (What is Laser Printer)

लेज़र प्रिंटर या थर्मल प्रिंटर लगभग एक जैसे ही होते हैं। लेज़र प्रिंटर का ज्सबसे जयादा इस्तेमाल व्यवसायिक और बड़े ऑफिस के लिए किया जाता है। इस प्रिंटर से सिर्फ ब्लैक एंड वाइट प्रिंट किया जा सकता है। LASER PRINTER क्या है इसके वारे में और जानते हैं। लेज़र प्रिंटर की प्रिंट करने की स्पीड सबसे ज्यादा होती है और इस प्रिंटर द्वारा प्रिंट की गई प्रतियों की कीमत सबसे कम आती है। इस प्रिंटर कार्टिज में पाउडर इंक पड़ी होती है। जो रेफिलेबल है लेकिन इस कार्टिज को सिर्फ तकनीकी व्यक्ति ही रिफिल कर सकता है। चूँकि इस प्रिंटर की छमता सवसे ज्यादा है। इसलिए यह प्रिंटर्स महंगे भी आते हैं।

प्रिंटर क्या है 1

लेज़र प्रिंटर कैसे काम करता है (MECHANISM OF LASER PRINTER)

अभी हमने जाना  LASER PRINTER KYA HAI और अब हम जानेगे की LASER PRINTER KAISE KAAM KARTA HAI लेज़र प्रिंटर में एक बहुत बड़ी कार्टिज होती है। जिसमे काली पाउडर इंक होती है। और इसकी कार्टिज में एक मैग्नेटिक रोड होती है। जो पाउडर इंक को चिपका के रखती है। कार्टिज के आगे एक थर्मल रोलर होता है।

जैसे ही हम कंप्यूटर या अन्य यन्त्र के द्वारा प्रिंटर को कमांड देते हैं। तो सबसे पहले यह प्रिंटर दी गई कमांड को विश्लेषण कर उसको कार्टिज तक पहुंचाता है। और कार्टिज प्राप्त हुई इनफार्मेशन के आधार पर इंक को कागज पर फैला देता है। फिर रोलर द्वारा कागज जैसे ही आगे बढ़ता है। तो थर्मल टेफ़लोन फैलाई  गयी इंक को पक्का कर देता है और कागज पर चिपका देता है।

थ्री डी प्रिंटर क्या है (WHAT IS 3D PRINTER)

3D का मतलब होता है तीन दिशाओं में। (THREE DIMENSIONAL) अभी तक हमने जो उपरोक्त प्रिंटर के बारे में जाना वोह सब 2D प्रिंटर हैं। जो सिर्फ X और Y अक्ष को प्रिंट करते हैं। अब हम जानेंगे 3D PRINTER क्या है। इस प्रिंटर द्वारा उभरी हुई तीन दिशाओं से देखे जाने बाली सामग्री प्रिंट होती है।

थ्री डी प्रिंटर काम कैसे करता है (MECHANISM OF 3D PRINTER)

थ्री डी प्रिंटर में कार्टिज या इंक नहीं पडती। इसमें एक तार नुमा प्लास्टिक का लम्बा तार पड़ता है। जिसको नोजेल द्वारा पिघलाकर आकृति दी जाती है। जैसे ही हम कंप्यूटर या अन्य यन्त्र के द्वारा प्रिंटर को कमांड देते हैं। तो सबसे पहले यह प्रिंटर दी गई कमांड को विश्लेषण कर उसको नोजेल तक पहुचाता है। इसकी नोजेल तीन दिशाओं X,Y,Z में घुमती है जिसके द्वारा यह 3D स्कैनर द्वारा स्कैन की गई सब्जेक्ट को CAD सॉफ्टवेयर के माध्यम से प्रिंट करना शुरू कर देता है।

निष्कर्ष

आशा करता हूँ की आप भली भांति जान गए होंगे प्रिंटर क्या है। अगर यह लेख आपको अच्छा तो हमारे लेख को शेयर करे।अगर आपका इस लेख से सम्बंधित प्रश्न हो तो हमसे संपर्क करें। सम्पर्क करने की जानकारी contact us पेज में उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *