Neurobion Forte In Hindi: न्यूरोबियान फोर्ट लाभ,जानकारी,फायदे,खुराक

Neurobion Forte In Hindi

Neurobion Forte In Hindi में नयूरोविओन के बारे में विस्तार में जानेंगे। हेल्लो दोस्तों स्वागत है। solution daddy प्लेटफ़ॉर्म पर आज Neurobion Forte टेबलेट के बारे में बात करेंगे। इसका इस्तेमाल क्या है। इसकी खुराक क्या है। Neurobion Forte को कौन कौन व्यक्ति ले सकता है। Neurobion Forte के दुष्प्रभाव क्या हैं। विस्तार पूर्वक जानेंगे।

विवरण (Overview)

Neurobion Forte एक मल्टीविटामिन और मल्टीमिनरल दवाई है। Neurobion Forte गोली और इंजेक्शन आते हैं। इस दवाई को मर्क कंपनी द्वारा बनाया गया है। इस दवाई की कीमत ₹34.70 रुपये है। यह दवा over-the-counter की कैटेगरी में आती है जिसके लिए डॉक्टर के पर्चे की जरूरत नहीं होती। इस दवा का इस्तेमाल एंटी ऑक्सीडेंट और मल्टीविटामिन के तौर पर किया जाता है। इसमें विटामिन बी के बहुत सारे कॉन्बिनेशन होते हैं।

Neurobion Forte को त्वचा रोग, बालों का झड़ना, ह्रदय रोग मानसिक कमजोरी, नसों में कमजोरी जैसी समस्याओं में दिया जाता है। चूँकि इसमें विटामिन बी की भरपूर मात्रा होती है इस वजह से यह हमारे शरीर की विटामिन बी की पूर्ति करती है। Neurobion Forte In Hindi इसके और इस्तेमाल जानेंगे।

Neurobion Forte के उपयोग (Neurobion Forte In Hindi)

न्यूरोबियान फोर्ट का इस्तेमाल एंटीऑक्सीडेंट मल्टीविटामिन के तौर पर होता है। इसके नाम के स्वरूप इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा न्यूरॉन या नसों संबंधित बीमारियों में किया जाता है। क्योंकि इस दवा में विटामिन बी 1  विटामिन बी 2 विटामिन बी 3 विटामिन बी 5 विटामिन बी 6 तथा विटामिन बी 12 प्रचुर मात्रा में होता है। जिससे हमारे शरीर में  इसको लेने से विटामिन बी की कमी दूर होती है। यदि हमारे शरीर में विटामिन बी की कमी हो जाए तो बहुत सारे लक्षण हमको दिखाई देने लगते हैं।  इसलिए इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं करना चाहिए।  न्यूरोबियान फोर्ट के इस्तेमाल निम्नलिखित हैं।

Neurobion Forte In Hindi lips

Neurobion Forte Neurobion Forte In Hindi
Neurobion Forte Tablet & Injection

नसों में समस्या या दवाव होना। 

तंत्रिका तंत्र में समस्या होना। 

मानसिक समस्या होना।

माशपेशियों में समस्या या दर्द होना।

शारीरिक बजन में कमी होना।

त्वचा या स्किन बीमारी होना।

अपच की समस्या बने रहना।

तनाव की स्तिथि बनी रहना।

जोड़ों में दर्द होना।

नींद टूट कर आना।
शरीर में झनझनाहट होना या सुन्न होना

 

न्यूरोबियान फोर्ट के काम करने का तरीका।

न्यूरोबियान फोर्ट एक मल्टीविटामिन दवाई है। जिसमें विटामिन बी 1  विटामिन बी 2 विटामिन बी 3 विटामिन बी 5 विटामिन बी 6 तथा विटामिन बी 12 प्रचुर मात्रा में होता है। और विटामिन बी जल या पानी में आसानी से घुलनशील है। न्यूरोबियान फोर्ट जल में पुर्णतः घुल जाती है। और विलयन बना लेती है। जिस कारण यह हमारे शरीर में आसानी से अबशोषित हो जाती है। और हमारे शरीर की विटामिन बी की कमी को पूरा करती है।

यह कार्बोहायड्रेट एमिनो एसिड और फैटी एसिड को एनर्जी में कन्वर्ट करता है। जो शरीर की झनझनाहट और सुन्नपन को दूर करती है। विटामिन बी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। जो हमारी उम्र को थमा देता है। विटामिन बी त्वचा को मुलायम और स्वस्थ बनाता है। साथ ही साथ यह हमारे बालों को भी स्वस्थ और लम्बा बनाता है। यह शुक्राणु की कमी को भी दूर करता है। Neurobion Forte In Hindi में हमने इसके इस्तेमाल जाने। 

Neurobion Forte In Hindi neuron

न्यूरोबियान फोर्ट के दुष्प्रभाव।

Neurobion Forte In Hindi में इसके इस्तेमाल जाने। जिस तरह से Neurobion Forte के उपयोग हैं। उसी तरह से इस दवा के दुष्प्रभाव भी बहुत है। Neurobion को खुद से कभी न लें। हो सके तो चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। न्यूरोबियान फोर्ट के दुष्प्रभाव निम्नलिखित हैं। 

Neurobion Forte Neurobion Forte Side Effects
Neurobion Forte Tablet & Injection

उल्टी और घबराहट। 

बार बार पेशाब आना और जलन होना। 

डायरिया और लूज मोशन होना। 

स्वाद का न आना। 

त्वचा में रेडनेस।

खाँसी आना साँस लें में तकलीफ।

शरीर में सूजन आ जाना।

अपच की स्तिथि बनना।

ऑंखें धुंधला जाना।

छाती फूलना।
ब्लड प्रेशर फाल डाउन होना। 

 

न्यूरोबियान फोर्ट की खुराक।

न्यूरोबियान फोर्ट को ओरल टेबलेट के रूप में लिया जाता है। जबकि न्यूरोबियान फोर्ट के इंजेक्शन भी आते हैं। जिसको इंट्रा मस्कुलर दिया जाता है। यह इंजेक्शन लाल रंग होता है। न्यूरोबियान फोर्ट की एक एक सुबह शाम ली जाती है। न्यूरोबियान फोर्ट की यदि एक खुराक छूट जाती है। तो उसको जल्द लेने की कोशिश करे यदि अगली खुराक का समय हो गया है तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें। बच्चों के लिए न्यूरोबियान फोर्ट के सिरप भी आते हैं। न्यूरोबियान फोर्ट को तोड़कर या कुचलकर न लेवें।

सावधानियां

न्यूरोबियान फोर्ट को लेते समय कुछ सावधानियां वर्तनी जरूरी हैं। न्यूरोबियान फोर्ट को हमेशा ‘खाना खाने के बाद लेना चाहिए। इससे न्यूरोबियान फोर्ट का अवशोषण अच्छा होता है। न्यूरोबियान फोर्ट की लत नहीं लगती है। इसको तोड़कर या चबाकर न लें ऐसा करने पर न्यूरोबियान फोर्ट से दुर्गन्ध आ सकती है। अल्कोहल का न्यूरोबियान फोर्ट पर कोई असर नहीं होता है। यदि आप गर्भावस्था में न्यूरोबियान फोर्ट को लेना चाहती हैं। तो इससे पर्व डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। ड्राइविंग के समय इसका सवाल सुरक्षित है। यदि आपको अन्य कोई बीमारी है। तो इसका सेवन अपने चिकित्सक से पूछ कर ही करें। Neurobion Forte In Hindi इस्तेमाल जानें।

Neurobion Forte In Hindi eye

पूछे जाने बाले सवाल

प्र. न्यूरोबियन फोर्ट क्या काम आती है?

न्यूरोबियान फोर्ट एक मल्टीविटामिन दवा है। जिसमें विटामिन बी कॉन्प्लेक्स प्रचुर मात्रा में होता है। यदि आपके शरीर में झनझनाहट नसों में दर्द नस दब जाना यह शरीर में कमजोरी रहती है। तो आप न्यूरोबियान फोर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल से पहले अपने चिकित्सक से सलाह जरूर लें। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi हेडिंग पढ़ें। 

प्र. न्यूरोबियान फोर्ट कब खाना चाहिए?

यदि आपके शरीर में झनझनाहट या अन्य कोई न्यूरॉन या नसों से संबंधित कोई बीमारी है। तो आप न्यूरोबियान फोर्ट ले सकते हैं। न्यूरोबियान फोर्ट खाने का सही समय खाना खाने के बाद है। क्योंकि न्यूरोबियान फोर्ट में विटामिन बी कॉन्प्लेक्स होता है। जोकि जल में घुलनशील है। इसलिए इसका अवशोषण खाना खाने के बाद बहुत अच्छा होता है। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi खुराक हेडिंग पढ़ें। 

प्र. हम कितने समय तक Neurobion Forte ले सकते हैं?

यदि आपके शरीर में विटामिन बी की कमी हो जाती है। तो आप न्यूरोबियान फोर्ट ले सकते हैं जब तक आपके शरीर में विटामिन बी की प्रतिपूर्ति ना हो जाए तब तक आप न्यूरोबियान फोर्ट ले सकते हैं। बेहतर होगा इसके लिए आप किसी चिकित्सक की सलाह लें।

प्र. Neurorubine फोर्ट किसके लिए प्रयोग किया जाता है?

न्यूरोबियान का इस्तेमाल न्यूरोबियान फोर्ट का इस्तेमाल पैरों में झनझनाहट या सुन्नपन होने में कर सकते हैं। यदि आपको विटामिन बी की कमी हो गई है। तो भी आप न्यूरोबियान फोर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं। न्यूरोबियान फोर्ट में विटामिन बी कॉन्प्लेक्स होते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi खुराक हेडिंग पढ़ें। 

प्र. विटामिन बी की कमी से शरीर में क्या होता है?

विटामिन बी की कमी से शरीर में  सारे बदलाव देखने को मिलते हैं। जिसमें होंठ फटना तथा मुंह में सूजन आ जाती है। विटामिन बी की कमी से और भी लक्षण दिखाई देते हैं। जिसमें त्वचा रोग बाल रोग हाथों पैरों में ऐंठन होना आम है। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi खुराक हेडिंग पढ़ें। 

प्र. विटामिन बी की कमी से कौन सा रोग हो जाता है?

विटामिन बी की कमी से वेरी-वेरी नामक रोग हो जाता है। यदि शरीर में विटामिन बी की कमी हो जाए तो उसके बहुत सारे लक्षण दिखाई देते हैं। जैसे थकान रहना हाथों पैरों में जलन होना हाथ पैर सुन्न हो जाना या नसों का काम ना करना शामिल है।

प्र. कौन सा फल विटामिन B12 से भरपूर होता है?

वैसे तो सारे ही फलों में विटामिंस पाए जाते हैं। लेकिन विटामिन बी के लिए सबसे अच्छे फल केला और पपीता हैं। और कोई भी पीला फल विटामिन बी का बहुत अच्छा सोर्स होता है।

प्र. क्या B12 की कमी से त्वचा में खुजली हो सकती है?

विटामिन B12 एक बहुत ही अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है। यदि विटामिन B12 की शरीर में कमी हो जाए तो इससे त्वचा रोग और बाल रोग हो सकते हैं। त्वचा में खुजली त्वचा का लाल हो जाना तथा त्वचा रूखी हो जाती है। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi खुराक हेडिंग पढ़ें। 

प्र. विटामिन B12 की कमी से क्या परेशानी होती है?

यदि मानव शरीर में विटामिन B12 की कमी हो जाए तो मानव शरीर में बहुत सारे लक्षण दिखाई देते हैं। जिनमें सबसे प्रमुख है तो क्या कारू का होना होंठ फटना साथ ही साथ थकान महसूस होना हाथों पैरों में ऐंठन होना और सुन्नपन आना। ज्यादा जानकारी के लिए Neurobion Forte In Hindi खुराक हेडिंग पढ़ें। 

प्र. मेरे पास कम B12 क्यों है?

जो लोग पौष्टिक आहार नहीं लेते तथा बाहर का खाना ज्यादा खाते हैं। उन लोगों में विटामिंस की कमी आ जाती है। विटामिंस की ज्यादातर कमी उन लोगों में देखने को मिलती है। जो लोग खाना समय से नहीं खाते या पौष्टिक आहार नहीं लेते आसान भाषा में समझे तो पौष्टिक आहार में फल सब्जी और जूस वगैरा लेना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों। इस लेख Neurobion Forte In Hindi में हमने इसके इस्तेमाल जाने। इसके साथ साथ इसके दुष्प्रभाव और डोज को भी जाना। आशा करता हूँ। यह लेख आपको अच्छा लगा होगा। इस लेख से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न या सुझाव हो। तो निःसंकोच हमसे संपर्क करें। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे सोशल मीडिया एकाउंट्स को लाइक और फॉलो करें। धन्यबाद।

यह भी जानें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *