इनकम टैक्स रिटर्न करने के फायदे और Income Tax Return Last Date

income tax return last date HOW TO FILE ITR

नमस्कार दोस्तों स्वागत है।आपका इस प्लेटफार्म सोलुशनडैडी ब्लॉग पर और आज हम बात करेंगे इनकम टैक्स रिटर्न के बारे में। आप इनकम टैक्स रिटर्न कैसे भर सकते हैं। income tax return last date क्या है।  इनकम टैक्स रिटर्न कौन कौन भर सकता है। इनकम टैक्स रिटर्न भरने के क्या क्या फायदे हैं। इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए कौन कौन से दस्तावेज लगते हैं। कितनी इनकम तक आपको टैक्स नहीं देना पड़ता है। और जानेंगे एक चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) का क्या काम रहता है। इत्यादि।

इनकम टैक्स रिटर्न क्या है?

इनकम टैक्स रिटर्न भारत सरकार द्वारा आपकी आय पर लगाया जाने बाला टैक्स जिसको हर साल भरा जाता है। भारत सरकार हर भारतीय नागरिक से उसकी कमाई से कुछ हिस्सा टैक्स के तौर पर लेती है। जिसका इस्तेमाल भारत सरकार भारत के विकास के लिए करती है। इसके अलावा भी बहुत सारे टैक्स भारत सरकार द्वारा लगाये जाते हैं। जिनसे आया रुपया भारत सरकार भारत के विकास के लिए व्यय करती है। इनकम टैक्स हर भारतीय नागरिक की कमाई के हिसाब से अलग अलग लिया जाता है। जिसमे कुछ लोगो को टैक्स में रियायत मिलती है। चार्टर्ड अकाउंटेंट एक क्वालिफाइड व्यक्ति होता है जिसे टैक्स के कानून की पूरी जानकारी होती है। बड़े बड़े उद्यमी इनकम टैक्स रिटर्न करने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की मदद लेते हैं। जिससे उनका काम आसान हो जाता है। चूँकि चार्टर्ड अकाउंटेंट को सभी टैक्स कानूनों का ज्ञान होता है। जिस वजह से वह उधमियों को इनकम टैक्स के बारे में अच्छी सलाह दे पता है। income tax return last date हर वर्ष 31 जुलाई होती है।

आय 60 वर्ष से कम 60 से 80 वर्ष की आयु वाले व्यक्ति 80 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्ति सभी के लिए
₹0.0 – ₹2.5 लाख 0 0 0 0
₹2.5 – ₹3.00 लाख 5% 0 0 5%
₹3.00- ₹5.00 लाख 5% 0
₹5.00 – ₹7.5 लाख 20% 20% 20% 10%
₹7.5 – ₹10.00 लाख 20% 20% 20% 15%
₹10.00 – ₹12.50 लाख 30% 30% 30% 20%
₹12.5 – ₹15.00 लाख 30% 30% 30% 25%
₹15 लाख से अधिक 30% 30% 30% 30%

 

इनकम टैक्स रिटर्न कौन कौन भर सकता है।

इनकम टैक्स रिटर्न को भारत का हर नागरिक भर सकता है। और हर भारतीय नागरिक की यह जिम्मेदारी बनती है। की वह हर साल इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करे चाहे उसकी इनकम बहुत कम ही क्यों न हो चाहे वह हजार के आकड़ें में ही क्यों न हो। हम सबका फ़र्ज़ बनता है। income tax return last date से पहले हमें इनकम टैक्स रिटर्न भर देना चाहिए। जो बहुत ही आसान है। अगर फिर भी यह काम आपको कठिन लगता है। ती आप इनकम टैक्स भरने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की मदद ले सकते हैं। चूँकि इसमें कम्प्यूटेशन (आय व्यय का विवरण ) लगता जिसको आम आदमी को बनाने में मुश्किल हो सकती है। अगर आपकी कमाई इनकम टैक्स के दायरे में आती है। और आप टैक्स जमा नहीं करते है। तो आप पर कानूनी कार्यवाही हो सकती है। बड़े बड़े बिज़नस मैन एडवांस टैक्स जमा करते हैं। जो साल में 4 बार जमा होता है। और इनकी इनकम इनके बिज़नस के ऑडिट से अंकी जाती है। जिस पर इनका टैक्स लगता है।

इनकम टैक्स भरने के लिए जरूरी दस्तावेज।

इनकम टैक्स भरने के लिए आपको कुछ मूल दस्तावेजों की जरुरत होती है। जिनमे आपकी पहचान के लिए आपका आधार कार्ड लिया जाता है। जो आपके अकाउंट से लिंक होना अनिवार्य है। अन्यथा आप इनकम टैक्स नहीं भर सकते। और भरने में मुश्किल हो सकती है। और इनकम टैक्स भरने के लिए सबसे जरुरी दस्तावेज है पैन कार्ड ( permanent account number) होता है। जो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है। इस पैन कार्ड को आप किसी भी जन सुबिधा केंद्र से बनबा सकते हैं। आपका पैन कार्ड भी आपके अकाउंट से लिंक होना अनिवार्य है। income tax return last date से पहले आपको अपनी बैंक जिसमें आपका अकाउंट है उससे पूरे वित्तीय( i.e. 01.04.2021 से 31.03.2022 ) वर्ष का स्टेटमेंट लेना होता है। जिसमे आपका आय और व्यय दोनों देखा जाता है। जिसके आधार पर आपका कम्प्यूटेशन बनता है।

  • बैंक अकाउंट स्टेटमेंट।
  • पैन कार्ड।
  • आधार कार्ड।
  • डिजिटल सिग्नेचर।
  • इनकम कम्प्यूटेशन।
  • फॉर्म 16 .
  • सैलेरी स्लिप।
  • टीडीएस certificate।

इनकम टैक्स रिटर्न(ITR) कैसे भरें

इनकम टैक्स रिटर्न आप इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट से कर सकते हैं। आप इन स्टेप्स को फॉलो कर के आसानी से अपना ITR file कर सकते हैं।  सबसे पहले आपको इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जाना है। और अपने को लाग इन करें अगर आप इस पोर्टल पर नए हैं। तो सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन करें उसके बाद अपनी ID और पासवर्ड डालें जब आप लोग इन हो जाएँ। तब आपको file income tax return जाना है। जिसके बाद आपको वित्तीय वर्ष चुनना है। उसके बाद कंटिन्यू करें। उसके बाद ऑनलाइन मोड को सेलेक्ट करें। उसके बाद आपको चुनना है। की आप किस केटेगरी के कर दाता हैं। उसके बाद अपना ITR करने का कारण भरना होता है। फिर आपको एक फॉर्म खुलता है जिसको आप को पूरा भरना होता है। उसमे आपको सारी वैध जानकारी देनी होती है। अन्यथा आपका फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जाता है। उसके बाद आपको OTP के जरिये इसको वेरीफाई करना होता है फिर आपका फार्म पूर्ण हो जाता है। 120 दिनों के अन्दर आपको ITR साइन किया हुआ मिल जाता है जिसकी रशीद आपको इ मेल पर मिल जाती है। यह जरुरी नहीं है। की आप सरकारी वेबसाइट से file करें आप इसके लिए प्राइवेट सेक्टर को भी चुन सकते हैं।

BANIFIT OF ITR income tax return last date

 

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) करने के फायदे।

आज के दौर में इनकम टैक्स रिटर्न करना बहुत आसन हो गया है। पहले यह प्रक्रिया ऑफलाइन होती थी। और अब यह प्रक्रिया ऑनलाइन शुरू हो गई है। जिससे अब कोई भी व्यक्ति आसानी से ITR file कर सकता है। आपको हर वर्ष अप्रैल लास्ट तक ITR file कर लेना चाहिए। income tax return last date हर वर्ष 31 जुलाई होती है।  ITR file करने के फायदे निम्न लिखित हैं।

  • आर्थिक ट्रांजेक्शन करने की मजबूती प्रदान करता है।
  • आपका सिबिल स्कोर मजबूत होता है।
  • ऋण लेने ममें आसानी होती है।

निष्कर्ष।

दोस्तों आज हमने जाना ITR इनकम टैक्स रिटर्न कैसे file कर सकते हैं। मेरा आपसे निवेदन है की अपना ITR file अवश्य करें। income tax return last date 31 जुलाई होती है। इसके पेनाल्टी फीस के साथ आपको ITR file करना होता है। दोस्तों इस लेख से सम्बंधित अगर आपका कोई प्रश्न हो या सुझाव हो तो निःसंकोच हमसे संपर्क करें। सम्पर्क करने की जानकारी हमारे contact us पेज पर उपलब्ध है। धन्यबाद।

यह भी पढ़ें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.