बैंक अकाउंट कैसे खोलते है खाता खोलें 0 Cash से एकदम Free.

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है। हैलो दोस्तों। स्वागत है। सलूशन डैडी प्लेटफ़ॉर्म पर और आज हम बात करेंगे। बैंक खाते की अक्सर लोग यह पूछते हैं। कि बैंक अकाउंट कैसे खोलते है। इस सवाल का पूर्ण रूप से जवाब इस लेख में मिलेगा। दोस्तों जब जब भी आप खाता खुलाने बैंक जाते हैं। तो बैंक बाले आपको एक फार्म थमा देते हैं। यह फार्म बहुत लम्बा चौड़ा होता जिसमे आपके बारे में काफी सारी इनफार्मेशन मांगी जाती है। आज जानेंगे इस लेख में कि यह फार्म आसानी से कैसे भर सकते हैं।

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है?

आज के इस दौर में हर कोई चाहता है। कि उसका एक बैंक खाता हो। क्यूंकि आज कल लेनदेन मुद्रा के द्वारा बहुत ही कम हो गया है। ज्यादातर लेनदेन ऑनलाइन सीधे बैंक के द्वारा होता है। जिसमे UPI का बहुत बड़ा योगदान है। और जब से हमारे प्रधानमंत्री जी ने जनधन योजना को लागू किया है। तब से हर व्यक्ति का बैंक अकाउंट खुल चूका है। लेकिन अब भी कुछ लोगों के बैंक अकाउंट नहीं खुले हैं। शिक्षा की कमी के आभाव में वे बैंक अकाउंट नहीं खुलवा पाते। और जो लोग साक्षर हैं वे  बैंक द्वारा दिए गए खाता खोलने बाले फार्म को समझ नही पाते हैं। और लोगों से पूछते हैं। बैंक अकाउंट कैसे खोलते है। इसकी जिम्मेदारी बैंक की नौकरी करने वाले व्यक्ति की बनती है कि वह उक्त लोगों के फार्म भरवाए। दोस्तों बैंक में अकाउंट दो तरह से खोल सकते हैं। ऑफलाइन और ऑनलाइन। जिसके कुछ दस्तावेजों की जरुरत होती है। जो अलग अलग खातों के आधार पर अलग अलग हो सकते हैं।

ऑफलाइन बैंक अकाउंट कैसे खोलते है? (Offline Bank Account)

ऑफलाइन बैंक खाता खोलने के लिए आपको आपके आस-पास के बैंक में जाना होगा। फिर चाहे वह कोई सी भी बैंक क्यूँ न हो बैंक में जाने के बाद आपको बैंक की नौकरी कर रहे अधिकारी से नया खाता खोलने के लिए कहना होगा। उसके बाद बैंक की नौकरी कर रहा अधिकारी आपको एक खाता खोलने का फार्म देगा। इस फार्म को आपको भली भांति भरना होगा। कुछ बैंकों में यह फार्म काले पेन से भरना अनिवार्य होता है। बाकि बैंकों के फार्म भरने के लिए आप काला या नीला पेन इस्तेमाल कर सकते हैं। बैंक खाता खोलने के लिए आपको निजी व व्यावसायिक जानकारी इस फार्म में भरनी होती है। इस फार्म में एक नामित व्यक्ति का नाम भरना  होता है। जिसे हम नॉमिनी भी कहते हैं किसी किसी बैंक में नया खाता खोलने के लिए गारेंटर की भी जरूरत पड़ती है। गारेंटर वही व्यक्ति हो सकता है। जिसका पहले से ही उक्त बैंक में खाता हो।

एक बार फार्म पूरी तरह से भरने के बाद। आपको इस फार्म में हस्ताक्षर बनाने होते हैं। जो तीन से चार बार लिए जाते हैं। इस फार्म में आपका एक या एक ज्यादा पासपोर्ट साइज़ फोटो लगाने होते हैं। और यदि आपको अपने बैंक अकाउंट में मोबाइल नंबर रजिस्टर, चेक बुक, एटीएम और SMS कि सुबिधा चाहिए। तो फार्म में दिए गए कॉलम में सही का निशान लगाना होता है। एक बार जब आपका फार्म अच्छी तरह से फिल हो जाए तो आप निम्न दस्तावेजों के साथ इस फार्म को अधिकारी को सौंप सकते हैं। जो लोग पूछते हैं। कि ऑफलाइन बैंक अकाउंट कैसे खोलते हैं। तो इस प्रकार आप अपना ऑफलाइन बैंक अकाउंट खोल सकते हैं।

  1. सत्यापित किये हुए आधार कार्ड की छायाप्रति।
  2. ड्राइविंग लाइसेंस वोटर आई डी कार्ड या अन्य पहचान पत्र।
  3. पैन कार्ड कि छायाप्रति।
  4. पासपोर्ट साइज़ फोटो।
  5. पैन कार्ड न होने कि स्तिथि में फार्म 60।
  6. बिजली का बिल या टेलीफोन का बिल।

ऑनलाइन बैंक अकाउंट कैसे खोलते है? (Online Bank Account)

ऑनलाइन बैंक अकाउंट खोलना बहुत आसान होता है। इसमें सीधे आपको ऑनलाइन फॉर्म दिख जाता है। जिसको कुछ हद तक तक भरना होता है। इस फार्म को आप अपने मोबाइल से या कैफ़े और जनसुबिधा केंद्र से भर सकते हैं। इसमें भी वही सारे दस्तेवेज लगते हैं। जो ऑफलाइन खाते में लगते हैं। फर्क सिर्फ इतना है। ऑनलाइन खाते में स्कैन किये हुए या डिजिटल दस्तावेज लगते हैं। फिर यह ऑनलाइन भरा हुआ फार्म आपको बैंक में जमा करना होता है। ऑनलाइन खाता खोलने के लिए कुछ बैंकों की मोबाइल एप्लीकेशन्स भी आती हैं। जिसके द्वारा खाता खोलना और भी आसन होता है। इसके लिए आपको उक्त बैंक की एप्लीकेशन डाउनलोड करना है। उसके बाद सीधे आपको अकाउंट ओपन का फार्म खोल लेना है। फिर आपको इसमें सारी डिटेल्स भरना है। उसके बाद आपको सबमिट करना हैं। फिर आपको आपके नंबर पर एक लिंक प्राप्त होगा। जिसके द्वारा आपकी ऑनलाइन के वाई सी (KYC) होगी। जिसमे आपको अपने मूल दस्तावेज दिखने होते हैं। और जो भी KYC अधिकारी कहे करना होता है। एक बार आपकी KYC पूरी हो जाती है। फिर उसके कुछ समय बाद आपका अकाउंट खुल जायेगा।

बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं। (Types Of Bank Accounts)

दोस्तों अभी हमने जाना। बैंक अकाउंट कैसे खोलते है? और अब जानेंगे बैंक एकाउंट्स कितने प्रकार के होते हैं। दोस्तों ग्राहक की आवश्यकता के अनुसार बैंक के खाते भी अलग अलग होते हैं। जो निम्न लिखित हैं।

  • वचत बैंक खाता (Saving Account)- ज्यादातर लोगों का वचत खाता होता है। इस खाते को कोई भी व्यक्ति खुलवा सकता है। और इस खाते में एक निर्धारित समय में जमा की गई निर्धारित राशि पर आपको व्याज भी मिलता है। यह व्याज अलग अलग बैंकों में अलग अलग हो सकता है। जो 2 प्रतिशत से लेकर 5 प्रतिशत तक हो सकता है। इस खाते में आप एक दिन में सिमित लेनदेन कर सकते हैं।
  • चालू खाता (Current Account)- चालू खाता ज्यादातर व्यापारी या बिजनेसमैन खुलवाते हैं। चालू खाते में लेनदेन कि कोई सीमा नहीं होती है। और आप एक दिन में कितनी भी बार लेनदेन कर सकते हैं। चालू खाते पर व्याज नहीं मिलता है। वल्कि सेवा प्रदान करने के एवज में बैंक कुछ शुल्क बसूल करता है।
  • लोन खाता या ऋण खाता (Credit Account)- जब कोई खाताधारक बैंक से ऋण या लोन लेता है। तब ऋण खाता खोला जाता है। जिसके लिए बैंक खाताधारक से व्याज बसूलता है। और गारंटी के तौर पर खाताधारक की सम्पत्ति अपने पास गिरवीं रखता है।

निष्कर्ष

दोस्तों जो लोग यह सवाल पूछते हैं। बैंक अकाउंट कैसे खोलते है। यह लेख उनके काम को आसान बना देगा। आशा करता हूँ। आपको यह लेख अच्छा लगा होगा। यदि इस लेख से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न या सुझाव हो। तो हमसे सम्पर्क करें। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे सोशल मीडिया एकाउंट्स को लाइक और फॉलो करें। धन्यबाद।

यह भी पढ़ें:

Leave a Reply

Your email address will not be published.