Paracetamol Tablet Uses In Hindi. बुखार की No.1 Ultimate दवा

paracetamol tablet uses in hindi

Paracetamol Tablet Uses In Hindi. आज जानेंगे इस लेख में। हैलो दोस्तों। स्वागत है। आपका solutiondaddy प्लेटफ़ॉर्म पर। और आज हम बात करेंगे। पेरासिटामोल पदार्थ या दवाई के बारे में। जानेंगे पेरासिटामोल किस काम आती है। Paracetamol tablet uses in Hindi हमारी बॉडी में कैसे काम करती है। दोस्तों आपने Paracetamol का नाम जरुर सुना होगा। इसको आम भाषा में PCM भी कहते हैं। जो बाजार में क्रोसिन के नाम से फेमस है। जिसकी कीमत बहुत कम है। इसको ज्यादतर बुखार में इस्तेमाल किया जाता है। बुखार के अलवा इसका क्या इस्तेमाल है। और कॉम्बिनेशन में यह कैसे काम करती है। पेरासिटामोल एक OTC (over the counter) प्रोडक्ट है। जो किसी भी मेडिकल पर आसानी से मिल जाती है।

पेरासिटामोल क्या है? (What Is Paracetamol)

पेरासिटामोल का जो वेस रूप है। उसको “फेनासेटिन” (phenacetin) कहते हैं। सबसे पहले इसको सन 1887 में पेश किया गया था। फेनासेटिन का इस्तेमाल एनाल्जेसिक-एंटीपायरेटिक के रूप में बड़े पैमाने पर किया जाता था। लेकिन इसको अब प्रतिबंधित कर दिया गया है। क्यूंकि इसका दुरपयोग नेफ्रोपैथी के रूप में किया जाने लगा। पेरासिटामोल फेनासेटिन का ही डेरीवेटिव है। जिसको acetaminophen भी कहते हैं। आज पेरासिटामोल का इस्तेमाल आम हो गया है। paracetamol tablet uses in Hindi में अगर बात करें। तो इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा बुखार में किया जाता है। जब भी हमारे बॉडी का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा बढ़ता है। तो हम इसको बुखार का नाम देते हैं। जोकि एक प्रकार लक्षण है। और शरीर का तापमान हमारे शरीर में मौजूद पैरोजेन और बैक्टीरिया के कारण बढ़ता है। जिसके लिए हम पेरासिटामोल नामक antipyretic दवा का इस्तेमल करते हैं। पेरासिटामोल दवा के बहुत फायदे हैं। तो इसके नुकसान भी हैं। इस दवा का चलन सन 1950 से आम हो गया। जिसमे पहले यह दवा पेरासिटामोल 1000 मिलीग्राम में आती थी। जिसको बाद में वैन कर दिया गया। और अब  500 से 650 मिलीग्राम आती है। पेरासिटामोल दवाई कॉम्बिनेशन में बहुत अच्छा काम करती है। जिसके कुछ कॉम्बिनेशन aceclofenac and paracetamol tablet uses in Hindi (एसिक्लोफेनाक पैरासिटामोल), nimesulide and paracetamol tablet uses in Hindi और paracetamol paediatric oral suspension ip हैं। जो बहुत फेमस हैं। 

पेरासिटामोल किस श्रेणी में आती है। (Category Of Paracetamol)

पेरासिटामोल का इस्तेमाल एनाल्जेसिक-एंटीपायरेटिक के रूप में किया जाता है। जो NSAIDs (non steroidal anti-inflammatory drugs) की श्रेणी में आती हैं। जो पैरा एमिनो फिनॉल डेरीवेटिव (PARA-AMINO PHENOL DERIVATIVES) है। जिसमें deethylated एक एक्टिव metabolite है। आप Paracetamol Tablet Uses In Hindi. का श्रेणी शीर्षक पढ़ रहे हैं।

ADME and paracetamol tablet uses in hindi

पेरासिटामोल कैसे काम करती है। (ADME of Paracetamol)

पेरासिटामोल को Oral Route (मौखिक), Rectal Route (गुदा द्वार) और  Parenteral Route द्वारा लिया जाता है। जिसमे हर रूट की अलग अलग बायोअवैलिविलिटी होती है। Oral Route (मौखिक) द्वारा ली गई पेरासिटामोल की बायोअवैलिविलिटी (bioavailability) 70 से 90 प्रतिशत होती है। जो GIT में अब्सोर्व (अवशोषित) होती है। जबकि Rectal Route के द्वारा ली गई। पेरासिटामोल की बायोअवैलिविलिटी सबसे कम 30 से 70 प्रतिशत तक होती है। सबसे ज्यादा बायोअवैलिविलिटी Parenteral Route की होती है जो 100 प्रतिशत होती है। जब पेरासिटामोल GIT से अब्सोर्ब हो जाती है। तो इसका डिस्ट्रीब्यूशन पूरे शरीर में होता है। पेरासिटामोल ड्रग PROSTA GLANDIN (PG) को बनने से रोकती है। और COX (cyclooxygenase) पाथवे को भी रोकती है। जो किसी भी तरह के दर्द के लिए सहायक होते हैं। पेरासिटामोल की हाफ लाइफ 2.5 हौर्स होती है। एक बार यह दवा शरीर में जाने के बाद अपना एक्शन स्टार्ट कर देती है। एक्शन के बाद इस दवा का निष्काशन होता है। जो पेशाब या पसीने के माध्यम से होता है। Paracetamol Tablet Uses In Hindi. को हम विस्तार से जानेंगे।

Paracetamol Tablet Uses In Hindi2

पेरासिटामोल के इस्तेमाल। (Paracetamol Tablet Uses In Hindi)

पेरासिटामोल का इस्तेमाल एनाल्जेसिक-एंटीपायरेटिक के रूप में किया जाता है। जिसको आम भाषा में बुखार उतारने की दवा के नाम से भी जाना जाता है। paracetamol tablet uses in Hindi  निम्न लिखित है। 

  • बुखार (FEVER)- पेरासिटामोल सबसे जयादा इस्तेमाल होने बाली दवाई है। जिसको OTC की श्रेणी में रखा गया है। पेरासिटामोल का इस्तेमाल बुखार या बॉडी टेम्प्रेचर को कम करने के लिए किया जाता है।
  • सर दर्द (MIGRAINE)- पेरासिटामोल का इस्तेमाल हलके सिर दर्द में भी किया जाता है।
  • बदन दर्द (BODY ACHE)- बदन दर्द या थकन को दूर करने के लिए भी सबसे ज्यादा पेरासिटामोल का इस्तेमाल किया जाता है।
  • सूजन (INFLAMATION)- सूजन को कम करने के लिए भी पेरासिटामोल का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इस लिए इसको ANTIINFLAMATORY DRUG भी कहते हैं।
पेरासिटामोल के दुष्प्रभाव। (Adverse effect of Paracetamol)

अभी हमने Paracetamol Tablet Uses In Hindi में जाने। जिस तरह से पेरासिटामोल के इस्तेमाल हैं उसी तरह से इसके दुष्प्रभाव भी हैं जिसमें निम्न लिखित दुष्प्रभाव शामिल हैं।

  • लीवर टोक्सिसिटी- पेरासिटामोल ओवरडोज से सबसे पहले लीवर विषाक्ता होती है। जिसमे लीवर डैमेज होने का भी खतरा बना रहता है। और कभी कभी तो लीवर फ़ैल होने का भी खतरा होता है। जिसमें रेनल फेलियर भी शामिल है इसकी ओवरडोज़ की वजह से मृत्यु भी हो सकती है। और लीवर ट्रांसप्लांट की नौबत भी आ सकती है। 
  • कैंसर प्रसतामोल की ओवरडोज़ के कारण कैंसर का भी खतरा बना रहता है।
  • प्रजनन क्षमता में कमी- इसकी ओवरडोज़ के कारण इनफर्टिलिटी की समस्या भी हो जाती है। 
  • घवराहट- पेरासिटामोल की अत्यधिक डोज से नौसिया की शिकायत हो जाती है।
  • अलसर- पेरासिटामोल की अत्यधिक डोज पेप्टिक अलसर का कारण भी बनती है।

यदि किसी भी तरह की पेरासिटामोल टोक्सिसिटी होती है तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लें।

खुराक। (Dose)

वयस्कों के लिए इसकी डोज एक दिन में 325 से लेकर 650 मिलीग्राम 3 से 5 टाइम है। जबकि बच्चों में इसकी डोज 10 से 15 मिलीग्राम पर किलोग्राम है इसके बाज़ार में उपलब्ध ब्रांड भी हैं। जो पेरासिटामोल की टेबलेट बनाते हैं। जिसमें CROCIN 500-650, DOLO 500-650, CALPOL 500 इत्यादि ब्रांड शामिल हैं। जो कॉम्बिनेशन भी बनाते हैं।

निष्कर्ष। (conclusion)

पेरासिटामोल आसानी से उपलब्ध होने बाली दवाई है। इस दवाई को कभी भी ओवरडोज़ न लें दोस्तों आशा करता हूँ। आपको इस लेख से पेरासिटामोल के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला होगा। यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो। अपने दोस्तों में शेयर करें और यदि कोई प्रश्न या सुझाव हो तो हमसे संपर्क करें। ज्यादा जानकारी के लिए हमारे सोशल मीडिया एकाउंट्स को फॉलो और लिखे करें। धन्यवाद।

और पढ़ें।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.