जन्म प्रमाण पत्र कैसे वनबायें? How to apply birth certificate in hindi

जन्म प्रमाण पत्र कैसे वनबायें HOW TO APPLY BIRTH CERTIFICATE

Birth Certificate (जन्म प्रमाण पत्र)

नमस्कार दोस्तों स्वागत है। सॉल्यूशन डैडी प्लेटफार्म पर यहाँ आपको हर विषय पर लेख मिल जायेंगे चाहे वो टेक्निकल हो या नॉन टेक्निकल और आज हम बात करेंगे birth certificate क्या है। इसकी क्या जरूरत है। इसको कैसे बनवाएं। जन्म प्रमाण पत्र जिसको हम लोग birt certificate के नाम से भी जानते हैं। birth certificate एक बहुत ही जरूरी और अहम दस्तावेज है। जो खास तौर पर बच्चों के उपयोग में ज्यादा आता है आज अगर किसी बच्चे को स्कूल में एडमिशन चाहिए तो स्कूल का मैनेजमेंट सबसे पहले जन्म प्रमाण पत्र तलब करता है। और आधार कार्ड बनवाने या age proof के लिए भी birth certificate की आवश्यकता होती है। आज के समय में ज्यादातर बच्चे अस्पताल या नर्सिंग होम में पैदा होते हैं। इस लिए उनका birth certificate उस अस्पताल का मैनेजमेंट बना कर देता है। जो ऑनलाइन अप्रूव होता है और उस अस्पताल के जिले के नगर पालिका या नगर निगम द्वारा जारी किया जाता है। जो बहुत ही आसान है इसमें किसी प्रकार की कोई झंझट नहीं होती। लेकिन पहले के लोग ज्यादातर घर पर दाई के माध्यम से डिलीवरी होती थी और उस समय के लोग birth certificate बनवाने में ज्यादा ध्यान नहीं देते थे। जिसके बाद बहुत समस्या का सामना करना होता था। आज कल सारे काम ऑनलाइन होने लगे हैं। तो birth certificate भी ऑनलाइन आवेदन किए जाने लगे हैं।

नवजात शिशु का Birth certificate (Birth Certificate for new born baby)

नवजात शिशु का birth certificate दो तरह से बनता। यह डिपेंड करता है की बच्चे की डिलीवरी कहां हुई है।बच्चे की डिलीवरी अगर अस्पताल या नर्सिंग होम में हुई है। तो अस्पताल या नर्सिंग होम का प्रशासन आपको जन्म प्रमाण पत्र बना के देगा और यह नवजात शिशु के माता पिता का अधिकार है। अस्पताल प्रशासन की जिम्मेदारी होती है की नवजात शिशु का birth certificate बना कर दें। जिसके लिए अस्पताल या नर्सिंग होम को crsorgi.gov.in portal की एक साइन इन आई डी नगर निगम या नगर पालिका द्वारा बना कर दी जाती है जिससे अस्पताल प्रशासन आराम से उस आई डी द्वारा अस्पताल में जन्में नवजात शिशु की इनफॉर्मेशन डालता है और दो या पांच दिन के बाद birth certificate इश्यू कर दिया जाता है इस प्रोसेस को करने के लिए अस्पताल प्रशासन को 21 दिन का समय दिया जाता है। यह birth certificate pdf फॉर्मेट में होता है और यह birth certificate डिजिटली हस्ताक्षरित होता है चूकि यह ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा बनाया जाता है। इसलिए इस को दुनिया में कहीं से भी सत्यापित किया जा सकता है।

अब आते हैं दूसरी तरफ अगर बच्चे का जन्म घर पर दाई द्वारा हुआ है तो इसके लिए आपको अपने ग्राम या कस्बे की नगर पंचायत, नगर पालिका या नगर निगम में आवेदन करना होगा जिसके लिए माता पिता के मूल आई डी प्रूफ की एक एक स्त्यापित फोटो कॉपी लगती है और एक एफिडेविट भी लगता है। जिसमे पूर्ण रूप से सूचना लिखित रहती है।

HOW TO APPLY BIRTH CERTIFICATE FROM HOSPITAL

Birth Certificate बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज

जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कई सारे दस्तावेजों की जरूरत रहती है। चूंकि अस्पताल में जन्में बच्चे की birth certificate बनवाने की जिम्मेदारी अस्पताल प्रशासन की होती है तो उसमे कम दस्तावेजों की जरूरत होती है। Birth certificate के लगने वाले दस्तावेज निम्नलिखित हैं।

  • आधार कार्ड या वोटर आई डी कार्ड
  • Birth certificate का पंजीकरण फार्म
  • 10 रुपए के स्टांप पर एफिडेविट
  • स्वीकृति प्रमाण पत्र
  • ग्राम प्रधान या चेयरमैन द्वारा सत्यापित स्वीकृति पत्र
  • अस्पताल प्रशासन की NOC

Birth Certificate ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Birth Certificate बनवाने के लिए आप घर बैठे भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं इसके लिए उपरोक्त दस्तावेजों की जरूरत होती है। आप अगर चाहे तो यह काम जन सेवा केंद्र से भी करवा सकते हैं। जन सेवा केंद्र वालों के लिए इसके लिए पूरी अथॉरिटी होती है जिस वजह से जन सेवा केंद्र द्वारा भरे गए birth certificate फॉर्म जल्दी अप्रूव हो जाते है और इस वजह से ज्यादातर लोग जन सेवा केंद्र से ही birth certificate बनवाना पसंद करते हैं। हालांकि आप खुद भी यह फॉर्म ऑनलाइन भर सकते हैं। जिसको भरने के लिए आपको कुछ परेशानी हो सकती है। उस समस्या को दूर करने की कोशिश करूंगा। सबसे पहले आप जिस स्टेट में रहते हैं उस स्टेट की citizen service website पर जाना है। यह वेबसाइट अलग अलग स्टेट के हिसाब से अलग हो सकती है।

JANM PRAMAN PATRA KA FORM

उसके बाद आपको वहा एक पोर्टल दिखाई देगा “पंजीकृत करने के लिए लॉग इन करें” वहा पर जाकर आपको लॉग इन करना है और birth certificate पंजीकरण का फार्म मिलेगा उसको आपको पूरा फिल अप करना है जैसे जन्म की दिनांक बच्चे का लिंग का प्रकार शिशु का नाम पिता का नाम माता का नाम दोनो के आधार कार्ड नंबर मोबाइल नंबर जन्म स्थान माता और पिता का पता अलग अलग सूचना दाता का नाम निवास का स्थान नगर है या ग्राम जिला का नाम राज्य का नाम परिवार का धर्म पिता की शिक्षा का स्तर माता की शिक्षा का स्तर पिता का व्यवसाय माता का व्यवसाय विवाह के समय माता की आयु प्रसव के समय माता की आयु कुल जीवित बच्चे प्रसव किसने किया प्रसव का तरीका नवजात शिशु का वजन गर्भ की अवधि इत्यादि कॉलम दिखाई देते हैं। जो कॉलम तारांकित होते हैं उनको भरना जरूरी होता है। कुछ राज्यों को छोड़कर यह सर्विस फ्री होती है।

Birth Certificate के फायदे।

Birth certificate एक ऐसा दस्तावेज है। जो आज के दौर के लिए बहुत जरूरी है अगर आपके पास जन्म प्रमाण पत्र नहीं है तो आपके बहुत सारे काम अटक सकते है। Birth certificate की जरूरत निम्नलिखित जगह पड़ती है।

एक बच्चे के लिए birth certificate किसी भी देख की नागरिकता का अच्छा सबूत है।
उम्र को वेरिफाई करने लिए birth certificate इस्तेमाल किया जाता है।
NPR में भी birth certificate अहम भूमिका निभाता है।
स्कूल में एडमिशन के समय birth certificate की जरूरत पड़ती है।
पासपोर्ट बनवाने के लिए भी birth certificate की जरूरत पड़ सकती है।

निष्कर्ष

आशा करता हूं। की आपको birth certificate के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा। जिसमें birth certificate कैसे बनवाएं इसका इस्तेमाल और भी बहुत कुछ जानने को मिला होगा। पाठकों से निवेदन की यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसको शेयर अपने दोस्तों में शेयर करें। हमारे सोशल मीडिया अकाउंट्स को फॉलो करें अत्यधिक जानकारी के लिए आप हमें मेल भी कर सकते है। यदि आपका कोई प्रश्न है तो हमसे संपर्क करें संपर्क करने की जानकारी contact us पेज पर उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.